Heat Stroke 2024 : जन-समुदाय लू के प्रकोप से बचाव के लिये करें उपाय 2024

हीट वेव (Heat Wave) : इस समय गर्मियां पड़ रही हैं, ऐसे में कई जगहों पर लू चलने का अनुमान है, तो आइए आज इस आर्टिकल में Heat Stroke लू से बचने के कुछ टिप्स के बारे में चर्चा करते हैं।

Heat Stroke 2024
Heat Stroke 2024

Heat Stroke 2024 : जन-समुदाय लू के प्रकोप से बचाव के लिये करें उपाय 2024

Post Name Heat Stroke 2024
Category Health
Portal examresultsindia.in
Post Date 18/05/2024

आपको बस इतना ही चाहिए

  • घर से बाहर निकलने पर अपने सिर को कपड़े, छाते या टोपी से ढकें।
  • सूती कपड़े पहनें जो वजन में हल्के हों।
  • प्यास न लगने पर भी पर्याप्त पानी पीने पर जोर दें।
  • आंखों की सुरक्षा के लिए धूप का चश्मा पहनें और त्वचा की सुरक्षा के लिए धूप का चश्मा पहनें।
  • ओआरएस घोल, छाछ, लस्सी, नींबू पानी, चावल दलिया, नारियल पानी सहित पेय पदार्थों का सेवन करें।
  • गर्मी से बचाव के लिए प्राथमिक उपचार का प्रशिक्षण प्राप्त करें।
  • बच्चों, बुजुर्गों और बीमार व्यक्तियों को विशेष ध्यान रखना चाहिए।

ऐसा मत करो

  • दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक धूप में निकलने से बचें। नंगे पैर बाहर न निकलें।
  • दोपहर के समय बाहर रहते समय ज़ोरदार गतिविधि में शामिल न हों।
  • दोपहर के समय खाना पकाने से बचें और रसोई की खिड़कियां और दरवाजे खुले रखें।
  • शरीर में पानी की मात्रा कम करने वाली चाय, कॉफी या शीतल पेय न पियें।
  • मसालेदार, तले हुए, अधिक नमक वाले खाद्य पदार्थों से बचें जिनमें प्रोटीन की मात्रा अधिक हो।

थोड़ी और सावधानी

  • जितना हो सके घर पर ही रहें।
  • प्याज के सलाद में हरा आम और धनिये जैसे घरेलू नुस्खे ‘लू’ से बचाते हैं।
  • सूखी पत्तियाँ, कृषि या अन्य अपशिष्ट न जलाएँ।
  • ऊर्जा कुशल उपकरण, स्वच्छ ईंधन और ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोतों का उपयोग करना।

किसानों एवं पशुपालकों को निम्नलिखित सावधानियां बरतनी चाहिए

  • सुबह या शाम को सिंचाई करें।
  • केवल फसल वृद्धि के महत्वपूर्ण स्तरों पर सिंचाई में वृद्धि की गई।
  • पलवार द्वारा मिट्टी की नमी बनाए रखें।
  • पशुओं को छाया में रखें और भरपूर स्वच्छ एवं ठंडा पानी दें।
  • सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे के बीच जानवरों को बाहर ले जाने से बचें।
  • पोल्ट्री हाउस में पर्दे लगाएं और उचित वेंटिलेशन प्रदान करें।
  • पशुओं को हरा चारा खिलाएं तथा प्रोटीन वसा रहित एवं खनिज युक्त चारा उपलब्ध कराएं।
  • पशु आश्रय स्थल को पंखा करें, पानी छिड़कें और आश्रय स्थल को गोबर, मिट्टी या सफेद रंग से रंगें।

लू के लक्षण

  • सिरदर्द, पैरों में दर्द.
  • शरीर का तापमान बढ़ना.
  • बहुत प्यासा।
  • शरीर से पानी की कमी होना।
  • उल्टी, मतली, चक्कर आना, धुंधली दृष्टि।
  • बेहोशी
  • सुध-बुध की हानि (भ्रम)।
  • गंभीर मामलों में आक्षेप.
  • यदि लू का प्रभाव महसूस हो तो तुरंत नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र या सरकारी अस्पताल से संपर्क करें।

Also Read:- Rajasthan Board 10th Result 2024: यहां से चेक करे अपना रिजल्ट

ध्यान दें: लू की जानकारी हमें विभिन्न सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त होती है, इसलिए कृपया अपने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र या सरकारी अस्पताल द्वारा प्रकाशित लेख या लू के दौरान क्या ख्याल रखें इसकी जानकारी पढ़ें।

Attension :- ऐसे ही योजना, सरकारी नोकरी,क्रिकेट की खबरे, टेक्नोलॉजी की जानकारी हम आपतक सबसे पहले अपने इस Website के माध्यम से पहुँचाते रहेंगे Examresultsindia.inतो आप हमारे Website को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो इसे Share जरूर करें ।

इस पोस्ट को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद,,,

Leave a Comment